‘अनुकृति’ मिरांडा हाउस की नाट्य-संस्था है जिसमें दूसरे विभागों की तरह हिन्दी विभाग की भी शिरकत बराबर रही है। हिन्दी विभाग की शिक्षिकाओं ने इसमें अपना बहुमूल्य योगदान किया है जिसके लिए डॉ. इंदुजा अवस्थी, डॉ. शैल कुमारी, डॉ. अर्चना वर्मा, डॉ. रमा यादव और डॉ. रेनू अरोड़ा की नाट्य-कर्म से जुड़ी सक्रियताएँ सराही जाती रही हैं। अभी हाल ही में मंचित बर्तोल्त ब्रेख्त का ‘खड़िया का घेरा’ लोगों द्वारा काफी पसंद किया गया।

भारती परिषद विभाग की अहम संस्था है जिसे विद्यार्थी अपनी प्राध्यापिकाओं की सहायता से चलाते हैं। विभाग में साहित्यिक गतिविधियों को संचालित करने का काम इस संस्था ने विगत कई वर्षों से किया है। ‘साहित्योत्सव’, ‘लेखक से मुलाकात’ जैसे कार्यक्रम इस संस्था की साहित्यिक सक्रियता का परिचय देते हैं। छात्रों में रचनात्मक अभिवृत्ति के विकास के लिए विभागीय और विश्वविद्यालयीय दोनों स्तरों पर भारती परिषद ने स्वस्थ, प्रतियोगी और संवादी वातावरण का निर्माण किया है।